primary market in hindi

Primary Market in Hindi

अब तक हम शेयर बाजार यानी Stock Exchange के बारे में तो जान चुके है।

अगर आप नहीं जानते तो यहाँ से पढ़ सकते है : Share Market क्या है ?

शेयर बाजार के द्वारा कंपनिया पैसा जुटाती है।

और उन पैसो को अपना व्यापार बढ़ाने में लगाती है।

लेकिन हम जो शेयर Stock Exchange के द्वारा खरीदते है, उसे हम सीधे कंपनी से नहीं खरीदते है।

बल्कि हम दूसरे निवेशकों से खरीदते है। Primary Market in Hindi

और इस बाज़ार में सिर्फ निवेशकों के बिच में ही शेयर की खरीद बिक्री होती है।

कंपनिया इन खरीद बिक्री में सीधे शामिल नहीं होती।

यानी अगर आज आपने D’Mart का शेयर Stock Exchange से खरीदा, तो आपको शेयर सीधा कंपनी ने नहीं बेचा।

बल्कि दूसरे निवेशक ने वह शेयर आपको बेचा होता है। Primary Market in Hindi

इस खरीद बिक्री में D’Mart कंपनी कही शामिल नहीं हुई। Primary Market in Hindi

तो फिर आप जरूर जान ना चाहेंगे की कंपनियां कहा पर अपने शेयर बेचती है ?

इसका जवाब है, Primary Market .

Capital Market यानी पूँजी बाज़ार के दो भाग है , Primary Market और Secondary Market.

Primary Market :

कंपनियां इस मार्केट में अलग अलग इशू लाकर अपने लिए पैसा जुटाती है।

जिसमे कंपनिया अपनी कंपनी के Public Issue और Rights Issue जैसे issue लाती है।

उन Issue के लिए निवेशक आवेदन करते है। Primary Market in Hindi

तब उन निवेशकों को कंपनिया अपने शेयर एक निश्चित दाम पर बेचती है।

इस तरह कंपनीओ को अपने लिए पैसा मिल जाता है, और निवेशकों का उन कंपनीओ में निवेश हो जाता है।

Public Issue (IPO) :


जब कोई कंपनी पहली बार अपने शेयर लोगो को बेचती है, उस Issue को Initial Public Offering (IPO) कहा जाता है।

इस IPO में शेयर का दाम कंपनी द्वारा निश्चित किया जाता है। Primary Market in Hindi

और निश्चित किये हुए दाम पर वह अपने शेयर निवेशकों के आवेदन के अनुसार उनको बेचती है।

इस तरह कंपनी IPO के द्वारा अपने लिए पैसा जुटाती है।

IPO के बारे में विगतवार जानकारी आप यहाँ से ले सकते है : IPO में निवेश।

Primary Market

Rights Issue :

जब किसी कंपनी को IPO आने के बाद भी पैसो की जरुरत होती है, तब वह rights issue के द्वारा पैसा जुटाती है।

Rights का मतलब ही है, अधिकार।  Primary Market in Hindi

यानी कंपनी के शेयर धारको के पास यह अधिकार है, की वह Rights issue में से शेयर खरीद सके।

इस तरह कंपनिया Rights issue के द्वारा किसी और निवेशकों के बदले सिर्फ अपने शेयर धारको को शेयर बेचती है।

इस Rights issue में कंपनिया अपने शेयर स्टॉक एक्सचेंज में उस शेयर के दाम से कम दाम पर बेचती है।

Rights issue का उदाहरण :


उदहारण के तौर पर श्रीमान चेतन के पास ABC कंपनी के 100 शेयर 100 रुपए के दाम से ख़रीदे हुए है।

अब कंपनी ABC 3:5 के अनुपात में Rights Issue लाती है। Primary Market in Hindi

यह Rights issue 70 रुपए प्रति शेयर के दाम पर लाया जाता है। Primary Market in Hindi

इसका मतलब है, की अब श्रीमान चेतन अपने ABC कंपनी के प्रत्येक 5 शेयर पर और 3 शेयर 70 रुपए प्रति शेयर में खरीद सकते है।

अब श्रीमान चेतन जी इस Rights Issue के द्वारा शेयर खरीदते है।

तो उनकी पहले की और बाद की स्थिति कुछ इस तरह होगी। Primary Market in Hindi

Rights issue से पहले श्रीमान चेतन का निवेश 100 रुपए प्रति शेयर से 100 शेयर = 10000 रुपए।

अब Rights Issue में 3:5 के अनुसार शेयर खरीदने का अधिकार = (100 x 3 ) / 5 = 60 शेयर।

एक शेयर खरीदने का दाम = 70 रुपए Primary Market in Hindi

rights issue में किया हुआ निवेश 60 शेयर x 70 रुपए = 4200 रुपए

issue के बाद कुल शेयर = 100 + 60 = 160.

कुल निवेश की गई राशि = 10000 + 4200 = 14200 रुपए। Primary Market in Hindi

अब प्रत्येक शेयर का दाम = 14200 / 160 = 88.75 रुपए। Primary Market in Hindi

इस तरह श्रीमान चेतन को 100 रुपए के शेयर 70 रुपए में मिलने से सभी शेयर का दाम 88.75 रुपए हो जाएगा।
और अगर वो चाहे तो उन शेयर को शेयर बाजार में बेच कर मुनाफा कमा सकते है।

[ सावधानी :  rights issue के द्वारा शेयर खरीदने से निवेशक को नुकसान भी हो सकता है।

क्युकी शेयर बाजार में rights issue की खबर से शेयर का दाम कम हो सकता है।

यहाँ दी गई जानकारी सिर्फ आपको समझाने के लिए ही है। में किसी भी  कंपनी में निवेश की सलाह नहीं दे रहा हु।  ]

इस तरह कंपनिया rights issue से भी कंपनी पैसा जुटाती है। Primary Market in Hindi

Secondary Market :


Secondary Market वो मार्केट है जिसके बारे में पहले ही हमने बात की।

Primary Market


जिस में स्टॉक एक्सचेंज के द्वारा निवेशकों के बिच में शेयर की खरीद बिक्री होती है। Primary Market in Hindi

तो दोस्तों यह थी Primary और Secondary market के बारे में जानकारी। उम्मीद करता हु आप इसके बारे में समझ गए होंगे।

शेयर बाजार और निवेश से जुडी ऐसी ही जानकारी free में सीधे ही अपने ईमेल पर पाने के लिए यहाँ से Subscribe करे।

और उसके बाद अपने Email के Inbox में जाकर अपना Subscription confirm करना न भूले।

अगर आप शेयर बाज़ार से जुड़ी एसी ही जानकारी की Update free मे चाहते है, तो नीचे दिए गए Blue Color के (Subscribe to Updates) के Button को Click करके जो स्क्रीन खुलेगी उसमे yes का विकल्प select कर दीजिए।

By Gaurav

Gaurav Popat एक निवेशक, ट्रेडर और ब्लॉगर है, जो की शेयर बाज़ार मे बहुत रुचि रखता है। वह साल 2015 से शेयर बाज़ार मे है। पिछले 7 साल मे खुद अलग अलग जगह से सीख कर और अनुभव के आधार पर शेयर बाज़ार और निवेश के विषय मे यहा पर जानकारी देता है।