Arbitrage Fund Meaning In Hindi
    Rate this post

    Arbitrage Fund Meaning In Hindi

    आर्बिट्राज फंड्स क्या होते है? ये Liquid Funds से कैसे अलग है ?

    अगर आप इन सभी सवालो के जवाब ढूंढ रहे है, तो आप सही जगह पर आए है। 

    आज हम इन सभी सवालो के जवाब जान लेंगे।

    Arbitrage Funds क्या होते है ? (Arbitrage Fund Meaning In Hindi)


    आर्बिट्राज फंड्स म्यूच्यूअल फंड्स का एक प्रकार ही है। 

    आर्बिट्राज फंड्स में निवेश किया गया ज्यादातर पैसा किसी जगह पर सीधा निवेश नहीं किया जाता।


    बल्कि उस पैसे को फंड मैनेजर द्वारा खोजे गए Arbitrage के अवसरों से पैसा कमाया जाता है।

     

    Arbitrage क्या होता है ? (Arbitrage meaning in Hindi)


    आर्बिट्राज का मतलब एक ही समय में दो अलग अलग बाज़ार पर किसी सिक्योरिटी (Stocks) के अलग अलग दाम के बिच के फ़ासले का फायदा उठाना है।

    एक उदाहरण से इसे समझते है।
    Arbitrage Fund meaning in Hindi

    आज 23 अगस्त 2020 के दिन 10 ग्राम सोने का दाम भारत में 52720 रूपए है और आज ही USA में 10 ग्राम सोने का दाम 47756 रूपए है।

    arbitrage funds kya hote hai

    अगर हम USA से 10 ग्राम सोना खरीद कर भारत में बेचेंगे तो हमें मिलने वाला

        लाभ = (52720 – 47756) 
                = 4964 रूपए

    होगा। इस ही को आर्बिट्राज कहते है। Arbitrage Fund meaning in Hindi

     

    Arbitrage, funds में कैसे हो सकता है ?


    आर्बिट्राज के अवसर कोई भी दो बजार में मिल सकते है।

    जैसे की NSE और BSE के बिच में , NSE और Futures Market में , BSE और Futures Market etc .


    आर्बिट्राज फंड्स के फंड मैनेजर्स ऐसे ही अवसरों का प्रयोग कर के निवेशकों के लिए पैसा कमाते है।


    जैसे की अगर किसी शेयर का दाम NSE पर 500 रूपए चल रहा है और Futures Market में उसका दाम 510 रूपए चल रहा है , तो यह एक आर्बिट्राज का अवसर है। Arbitrage Fund meaning in Hindi

    इस अवसर का लाभ उठाने के लिए फंड मैनेजर्स NSE में से कुछ शेयर्स खरीदते है और उतने ही शेयर्स Futures Market में बेच देते है।

     

    arbitrage funds kya hai

     

    जिस से NSE पर उस सिक्योरिटी का दाम और Futures Market पर दाम के बिच का फासला (10 रूपए) निश्चित लाभ बन जाता है।

    अब किसी भी स्थिति में नुकसान होने की सम्भावना बहुत ही कम हो जाती है।


    ऊपर दिए हुए उदाहरण में 510 में शेयर बेचे गए है और 500 मे खरीदे गए है।


    अब अगर NSE में दाम बढ़कर 510 हो जाए और Futures Market में 520 हो जाए। 


    तो भी NSE में 10 रुपए का लाभ और Futures Market में 10 रुपए के नुकसान को जोड़कर ना तो लाभ होगा या ना ही नुकसान। Arbitrage Fund meaning in Hindi


    अन्य कोई भी स्थिति में नुकसान होने की संभावना बहुत ही कम है।


    इस तरह आर्बिट्राज फंड्स में रिस्क बहुत ही कम होता है।


    और Arbitrage Fund meaning in Hindi


    इस फंड का कुछ हिस्सा Debt में निवेशित रहने से रिस्क और ज्यादा कम हो जाता है।


    जिस वजह से आर्बिट्राज फंड्स में Equity का कोई रिस्क नहीं होता।


    Arbitrage funds से लाभ क्या होता है ?



    यह फंड इक्विटी फंड में गिने जाते है। Arbitrage Fund meaning in Hindi

    जिस से इस पर लगने वाला टैक्स 1 साल से कम के निवेश पर 15%

     

    Arbitrage funds taxation

    और 1 साल से ज्यादा के निवेश पर 10 % है ( 1 लाख से ज्यादा प्रॉफिट होने पर )।

    अगर आप 20% या फिर 30% के टैक्स स्लैब में आते है तो आपको आर्बिट्राज फंड्स से अधिक लाभ होगा।


    क्योंकि 1 साल से कम के निवेश पर आपको 20 या 30% के बजाए 15% टैक्स भरना पड़ेगा।


    अगर एक साल से ज्यादा के निवेश पर 10% अगर आप के सभी इक्विटी निवेश को मिलाकर 1 लाख से ज्यादा होगा तो ही भरना पड़ेगा।


    तरह इन फंड्स में निवेश करने पर टैक्स में भी अधिक लाभ मिलता है।


    इसी वजह से आर्बिट्राज फंड्स लाभकारी होते है।

     

    Arbitrage funds और Liquid funds के बीच में फर्क क्या है?  

    •  Liquid funds में निवेश Debt के विकल्पों में ही किया जाता है। जबकि आर्बिट्राज फंड्स में पैसे को आर्बिट्राज के अवसर को खोज कर उसका प्रयोग करके कमाया जाता है ।
    • Liquid funds में शॉर्ट टर्म के लिए निवेश करने पर लगने वाला टैक्स आपके टैक्स स्लैब के अनुसार लगता है। जबकि आर्बिट्राज फंड्स में आपको सिर्फ 15 % का टैक्स ही भरना पड़ेगा।
    • लेकिन तीन साल से ज्यादा समय के निवेश पर Liquid फंड्स में 20% ( indexation के साथ)।
    • जबकि आर्बिट्राज फंड्स में 10% टैक्स भरना पड़ता है ( यदि सभी इक्विटी फंड्स में कीए हुए निवेश से मिली हुई कमाई 1 लाख से ज्यादा हो तो ही)।
    • आर्बिट्राज फंड्स में 90 दिन से पहले पैसे निकालने पर Exit Load लगता है। जबकि Liquid funds में कोई Exit Load नहीं होता।
    • Liquid funds में से पैसा निकालने के instructions के बाद 1 ही दिन में पैसा आपके पास आ जाता है। जबकी आर्बिट्राज फंड्स में पैसा निकालने के instructions के बाद पैसा आपके पास आने में 3 से 4 दिन लग सकते है।

    निष्कर्ष :


    ये सब कुछ जानने के बाद निष्कर्ष यह निकलता है कि अगर आप कम से कम 90 दिनों से 3 साल से कम समय के लिए निवेश करना है।

    तो आपके लिए Liquid funds से ज्यादा आर्बिट्राज फंड्स ही लाभकारी है।


    दोस्तो, अगर आपको यह जानकारी पसंद आयी हो तो इसे सोशियल मीडिया में जरूर Share करे।

     
    अगर आप शेयर बाज़ार से जुड़ी एसी ही जानकारी की Update free मे चाहते है, तो नीचे दिए गए Blue Color के (Subscribe to Updates) के Button को Click करके जो स्क्रीन खुलेगी उसमे yes का विकल्प select कर दीजिए।

    By Gaurav

    Gaurav Popat एक निवेशक, ट्रेडर और ब्लॉगर है, जो की शेयर बाज़ार मे बहुत रुचि रखता है। वह साल 2015 से शेयर बाज़ार मे है। पिछले 7 साल मे खुद अलग अलग जगह से सीख कर और अनुभव के आधार पर शेयर बाज़ार और निवेश के विषय मे यहा पर जानकारी देता है।