2.8/5 - (5 votes)
    Current Assets Turnover Ratio

    Current Assets Turnover Ratio.

    इस से पहले हम Assets Turnover Ratio के बारे में जान चुके है।

    तब हमने जाना था की कंपनी अपने हर 1 रुपए के Assets पर कितनी आय कमा रहा है, वही है, Assets Turnover Ratio.

    आज हम इस से जुड़े दूसरे Ratio के बारे में जानेंगे जो है, Current Assets Turnover Ratio.

    Current Assets Turnover Ratio क्या है ?


    Current Assets के बारे में तो हम जानते ही है।

    इसका मतलब है, कंपनी की 1 साल से कम की संपत्ति।

    जैसे कंपनी की Inventory, एक साल से कम की Bank Deposit, Working Capital आदि।

    इन सभी का उपयोग कर के ही कंपनी Sales करती है।

    यह Ratio हमें बताता है, की कंपनी 1 साल में कितनी बार अपने Current Assets को पैसे में बदल पाती है।

    जिस से हमें पता चलता है, की कंपनी कितनी अच्छी तरह अपना व्यापार कर रही है।

    यह Ratio किसी कंपनी के लिए जितना ज्यादा उतनी ही मजबूती से कंपनी अपना व्यापार कर रही है।

    अलग अलग Industry की कंपनीओ के लिए यह Ratio अलग अलग होता है।

    इस लिए हमें किसी भी समान Industry की कंपनीओ की ही तुलना इस Ratio के अनुसार करनी चाहिए।

    किसी Metal Industry की कंपनी की तुलना Phrma Industry की कंपनी से करने का कोई मतलब नहीं है।

    Current Assets Turnover Ratio Formula :


    इस Ratio को गिनने के लिए हमें कंपनी की Sales को उसके Average Current Assets से विभाजित करना होता है।

    किसी भी कंपनी की Sales हमें उसके Profit & Loss Statement से मिलती है।

    और Current Assets हमें उसकी Balance Sheet से मिलता है।

    Average Current Assets हमें पिछले साल और इस साल के Current Assets का Average लेने से मिलता है।

    Current%2BAssets%2BTurnover%2BRatio


    उदाहरण के तौर पर हम यहाँ पर दो समान Industry की कंपनीओ का Current Assets Turnover Ratio खोजेंगे।

    यह दोनों कंपनियां है, BATA India और Khadim India .

    BATA INDIA :

    यहाँ पर मैंने BATA India के Profit & Loss Statement और Balance Sheet में से कुछ जानकारिया दी है।

    Sales From Profit & Loss Statement2928.44 करोड़
    FY19 Current Assets1837.46 करोड़
    FY18 Current Assets1547.58 करोड़

    जिसमे से हम देख सकते है, की उसकी Sales है, 2928.44 करोड़ की।

    और साल 2019 और साल 2018 के लिए उसके Current Assets 1837.46 करोड़ और 1547.58 करोड़ थे।

    तो इस तरह BATA India के लिए,

    Average Current Assets = (1837.46 + 1547.58) / 2 = 1692.52

    Current Assets Turnover Ratio = 2928.44 / 1692.52 = 1.73

    होगा।

    Khadim India :


    Khadim India के Profit & Loss Statement से उसकी Sales है , 799.18 करोड़ की।

    Sales From Profit & Loss Statement 799.18 करोड़
    FY19 Current Assets 371.823 करोड़
    FY18 Current Assets 319.465 करोड़

    और उसकी Balance Sheet से उसके इस साल और पिछले साल के Current Assets है, 371.823 करोड़ और 319.465 करोड़ के।

    तो Khadim India के लिए

    Average Current Assets = (371.823 + 319.465) / 2 = 345.644

    Current Assets Turnover Ratio = 799.18 / 345.644 = 2.31

    होगा।

    मतलब Khadim India हर साल अपने Current Assets को 2.31 बार पैसो में Convert करती है।

    जो की Bata India से भी ज्यादा है।

    इसका मतलब है, Khadim India की Products Bata India की Products से ज्यादा बिकती है।

    इस ratio के अनुसार यह बिलकुल सही है, की Khadim India अपनी Products जल्दी बेच देती है।

    लेकिन सिर्फ इसी के आधार पर निवेश नहीं कर सकते इसके साथ हमें कंपनी के Margin और बाकि के Fundamentals भी देखने पड़ते है।

    अगर Margin को देखा जाए तो Bata India का Margin, Khadim India के Margin ज्यादा है।

    इस तरह हम किसी भी एक Ratio के अनुसार किसी भी कंपनी में निवेश नहीं कर सकते।

    तो दोस्तों यह था Current Assets Turnover Ratio के बारे में जानकारी।

    उम्मीद करता हु की आपके लिए यह जानकारी उपयोगी साबित होगी।

    अगर आप ऐसी ही जानकारी सीधे अपने Email पर Free में पाना चाहते है, तो हमारे Free Weekly Newsletter को Subscribe कर ले।

    धन्यवाद।

    अगर आप शेयर बाज़ार से जुड़ी एसी ही जानकारी की Update free मे चाहते है, तो नीचे दिए गए Blue Color के (Subscribe to Updates) के Button को Click करके जो स्क्रीन खुलेगी उसमे yes का विकल्प select कर दीजिए।

    By Gaurav

    Gaurav Popat एक निवेशक, ट्रेडर और ब्लॉगर है, जो की शेयर बाज़ार मे बहुत रुचि रखता है। वह साल 2015 से शेयर बाज़ार मे है। पिछले 7 साल मे खुद अलग अलग जगह से सीख कर और अनुभव के आधार पर शेयर बाज़ार और निवेश के विषय मे यहा पर जानकारी देता है।