weighted average kya hai ?
    3/5 - (1 vote)

    Weighted Average.

    दोस्तों पिछली Post में हमने Time Value of Money के बारे में समझा था।

    इसी तरह आज हम weighted average के बारे में समझेंगे।

    जैसे हमने बात की थी की Stock Valuation करने के लिए time value of money का उपयोग होगा उसी तरह weighted average का भी उपयोग होगा।

    इस लिए आज हम weighted average को उदाहरण के साथ समझेंगे।

    तो आइए पहले जानते है की,

    Weighted Average क्या है ?

    दोस्तों आप average यानी औसत को तो समझते ही होंगे जो हम प्राथमिक कक्षा के गणित में समझते थे।

    यह weighted average भी उसी average का एक advance स्वरुप ही है।

    जैसे हम किन्ही 3 संख्याओं को जोड़कर फिर मिली हुई संख्या को 3 से विभाजित करते थे तो हमें उन संख्या का औसत मिलता था।

    किन्ही संख्याओं का weighted average निकालना का तरीका भी कुछ वैसा ही है।

    बस इसमें थोड़ा फर्क यह है, की जिन संख्याओं का weighted average निकालना हो उन्हें सीधा जोड़ने के बजाए उनके weight से गुणा कर के फिर जोड़ा जाता है।

    और फिर बाद में मिली हुई संख्या को कुल संख्याओं से विभाजित किया जाता है।

    इसे ऐसे नहीं समझा जा सकता इस लिए चलिए एक उदारहण के साथ समझते है।

    उदाहरण 1 :

    उदाहरण के तौर पर संख्याए 50,60,90 और 110 का average कुछ इस प्रकार होगा :

    Weighted Average


    लेकिन अगर 50,60,90 और 110 के weight क्रमशः 1,2,3 और 4 होंगे तो उनका weighted average कुछ इस प्रकार मिलेगा :

    Weighted Average


    इस पर से हमने देखा की किन्ही संख्याओं के average और उसके weighted average में weight का फर्क होता है।

    इस weight को हम अपने अनुसार दे सकते है।

    किसी संख्या को ज्यादा weight देने से उस संख्या की असर average में बढ़ जाता है, और कम देने से उस संख्या की असर कम होती है।

    इस लिए हम बहुत सी जगहों पर सामान्य average के बदले weighted average का प्रयोग करते है।

    उदाहरण 2 :

    उदाहरण के तौर पर कंपनी A के पिछले 5 साल के Net Profit और उनकी Growth निचे दी गई है।

    Year20152016201720182019
    Net Profit (in Cr.)100120130180280
    Growth (in %)208.3338.4655.55

    इनमे से अगर हमें साल 2020 में आने वाली growth का अनुमान लगाना हो तो हम सामान्य तौर पर पिछले सालो की average लेकर लगाते है।
    लेकिन कंपनी A ने पिछले 2 साल में कुछ बदलाव किए है, जिसकी वजह से पिछले दो साल के net profit बहुत बढ़ गया है।

    और इस बदलाव की असर भी आने वाले साल में होगी ऐसा हमें पता है।

    मगर सामान्य average ले लेने से तो सभी वर्षो की growth की असर समान होगी।

    ऐसा न हो इसी लिए हमें पिछले दो साल को बाकी के साल के मुकाबले में ज्यादा weight देना होगा।

    जिस से हमारी गिनती में भी उन सालो की असर ज्यादा हो।

    ऐसा करने पर कंपनी A की साल 2020 में होने वाली growth का अनुमान हम इस तरह लगा सकते है :

    Year201520162017201820192020P
    Net Profit (in Cr.)100120130180280384.78
    Growth (in %)208.3338.4655.5537.42
    Weight1234

    इस उदाहरण में आपने देखा की हमने Weight 2019 को 4 से लेकर 2016 की growth को 1 दिया है।

    इसका कारण है की कंपनी A के बारे में तो हमें पता था की उसने किस साल में बदलाव किया था।

    लेकिन सभी कंपनीओ के बारे में तो यह नहीं पता होगा।

    इस लिए हम जिस साल का result आखिर में आया हो उसे सबसे ज्यादा weight देते है।

    और क्रमशः जितने weight घटाते जाते है।

    जिस से सबसे latest जिस साल का result आया हो उसकी ज्यादा असर हमारी गिनती में आ सके।

    निष्कर्ष :

    तो दोस्तों आज हमने weighted average के बारे में उदाहरण के साथ सीखा।

    उम्मीद करता हु आपके लिए यह जानकारी उपयोगी साबित होगी।

    अगर आप शेयर बाज़ार से जुड़ी एसी ही जानकारी की Update free मे चाहते है, तो नीचे दिए गए Blue Color के (Subscribe to Updates) के Button को Click करके जो स्क्रीन खुलेगी उसमे yes का विकल्प select कर दीजिए।

    By Gaurav

    Gaurav Popat एक निवेशक, ट्रेडर और ब्लॉगर है, जो की शेयर बाज़ार मे बहुत रुचि रखता है। वह साल 2015 से शेयर बाज़ार मे है। पिछले 7 साल मे खुद अलग अलग जगह से सीख कर और अनुभव के आधार पर शेयर बाज़ार और निवेश के विषय मे यहा पर जानकारी देता है।