indigo paints share news hindi

    Indigo Paints का IPO आज यानी 20 जनवरी से खुल चुका है और 22 जनवरी तक खुला रहेगा। कंपनी IPO के जरिए करीब 1100 करोड़ रुपए जुटाएगी। वैसे तो यह 2021 का दूसरा IPO है लेकिन अब देखना यह है की यह अपने लिस्टिंग के दिन कितना मुनाफा अपने निवेशको को देगी ? चलिए पहले Indigo Paint के बारे मे और उसके व्यापार के बारे मे जान लेते है।

    Indigo Paint के बारे मे :

     

    Indigo Paint की शुरुआत 28 मार्च 2000 मे हुई थी। हालांकी आज यह भारत के paint industry मे fast growing कंपनी है और इसी इंडस्ट्री मे पाँचवी बड़ी कंपनी बन चुकी है।

     

    indigo paints ipo review

     

    इतनी जल्दी इतने विकास के पीछे कंपनी के द्वारा लाए गए different products का बहुत बड़ा हाथ है। साथ ही इनके द्वारा सबसे पहले बड़े बड़े शाहेरो के बदले Tier 3, Tier 4 और गाँव मे entry ली गई इसकी वजह से भी बहुत कम समय मे यह इतना विकास कर पाई है। छोटे शहेरो और गाँव के बाद उन्होने धीरे धीरे बड़े शहेरो मे अपने कदम बढ़ाए।

     

    आज इनका डिस्ट्रीब्यूसन नेटवर्क करीब 27 राज्यो मे बन चुका है।

     

    Mahendra Singh Dhoni को बनाया Brand Ambassador :

     

    Indigo Paint ने मई 2018 से क्रिकेटर महेंद्र सिंघ धोनी जी को अपना Brand Ambassador बनाया था। जिसके बाद उनके साथ अलग अलग प्रकार की Ad दे कर धीरे धीरे अपना ब्रांड बनाना शुरू किया। जीस से कंपनी ने अपने अलग अलग प्रॉडक्ट के बारे मे अपने उपभोक्ताओ को जानकारी दी और उसका उपयोग कर के फिर अपना distribution network भी बढ़ाया।

     

    इस तरह बढ़ा मार्जिन :

     

    Indigo शुरुआत मे बाकी कंपनीओ  की तरह सिर्फ ईमल्सन, इनेमल, वूड कोटिंग, डिस्टेम्बर, प्राइमर, पुट्टी और सिमेन्ट पेइन्ट ही बनाती थी। लेकिन उसके बाद उसने लोगो की जरूरत को समजकर बाकी सभी कंपनीओ से हटके अलग अलग प्रॉडक्ट जैसे मेटलीक इमल्शन, टाइल कोट इमल्शन, ब्राईट सिलिंग कोट इमल्शन, डर्ट प्रूफ और वॉटर प्रूफ एकस्टीरियर लेमिनेट जैसे कई और प्रॉडक्टस सबसे पहले बना दी।

     

    indigo floor paint banner mob test

     

    सबसे पहले एसे products बनाने से कंपनी को बहुत बड़ा लाभ उसके मार्जिन बढ़ाने मे हुआ। साथ ही अलग तरह की प्रॉडक्ट लाने की वजह से कंपनी की आय का पिछले तीन साल का औसत 27 % हिस्सा यह नए प्रॉडक्ट से आने लगा।

    इन तीन जगह पर है Manufacturing Facilities :

     

    30 सितंबर 2020 के हिसाब से कंपनी के मुख्य तीन जगह पर Manufacturing Facilities है, जिसमे राजस्थान मे जोधपुर, केरल मे कोची और पुदुकोटाई तमिल नाडु मे सामील है।

     

    यह Manufacturing Facilities उस जगहो के बेहद नजदीक ही है, जहा से उनको कच्चा माल मिलता है, जिसकी वजह से उनका कच्चे माल का खर्च कम हो जाता है, और यह भी मार्जिन बढ़ाने मे मदद करता है।

     

    Financial Performance :

    Revenue (आय) :

    Indigo की आय वित्त वर्ष 2018 मे 401.47 करोड़ थी जो करीब 33 % बढ़कर वित्त वर्ष 2019 मे 535.62 करोड़ हुई, जिसके बाद वित्त वर्ष 2020 मे करीब और 16 % बढ़कर 624.79 करोड़ हुई। यानी वित्त वर्ष 2018 से वित्त वर्ष 2020 तक करीब 55 % बढ़ी।  indigo ipo paint performance

    EBIDTA और EBITDA Margin :

     

    वित्त वर्ष 2018 मे Indigo का EBITDA करीब 25.8 करोड़ था जो वित्त वर्ष 2019 मे बढ़कर 54 करोड़ हुआ और वित्त वर्ष 2020 मे करीब 90.9 करोड़ हुआ। यानी सिर्फ वित्त वर्ष 2018 से लेकर वित्त वर्ष 2020 के खत्म होने तक EBIDTA मे करीब 252 % का ईजाफ़ा हुआ जो की एक बहुत अच्छी बढ़त है।

     

    Indigo का EBIDTA Margin वित्त वर्ष 2018 मे 6.43 % था जो वित्त वर्ष 2020 मे 14.56 % यानी दो गुना से भी जायदा हो गया है। यह भी एक बहुत ही दमदार बढ़त है।

     

    ROE (Return on Equity) :

    कंपनी की ROE वित्त वर्ष 2018 मे करीब 10 % थी जो की वित्त वर्ष 2020 मे बढ़कर करीब 24 % हो गई है। यह भी कंपनी के निवेशको के लिए बहुत अच्छा संकेत है।

    Debt to Equity :

     

    किसी भी कंपनी मे निवेश से पहले उस पर कितना कर्ज़ है यह जान लेना बहुत जरूरी होता है। क्या कंपनी का कर्ज़ लिमिट मे है, यह हमे Debt to Equity पर से पता चलता है। इस बात पर भी Indigo Paint खरी उतरी है क्यूकी उसका Debt to Equity Ratio वित्त वर्ष 2018 मे 0.28 था जो वित्त वर्ष 2019 मे बढ़कर 0.41 हो गया था लेकिन वित्त वर्ष 2020 मे घटकर 0.25 हो गया है।

     

    साथ ही इस IPO के जरिए जुटाई जाने वाली राशि मे से करीब 25 करोड़ की राशि का उपयोग कर्ज़ चुकाने के लिए भी किया जाने वाला है, जिस से पता चलता है की कंपनी का मैनेजमेंट कर्ज़ को संचालित करने मे सक्षम है। जो एक मजबूत मेनेजमेंट को होना ही चाहिए।

     

    PAT Margin :

    indigo ipo review pat margin

     

    वित्त वर्ष 2018 मे Indigo Paint के PAT Margin करीब 3.2 % था जो वित्त वर्ष 2020 मे बढ़कर 7.7 % हो गया है। हालांकी यह मार्जिन अभी भी बाकी की कंपनीओ के मुक़ाबले बहुत कम है, जो एक Growth की संभावना दर्शाती है।

     

    Growth Opportunity :

     

    साल 2024 तक Paint Industry मे 8.3 की CAGR से growth हो सकती है।
    indigo ipo paint industry growth
    साथ ही साल 2012 के मुक़ाबले प्रति व्यकती पेईन्ट का उपयोग साल 2012 मे 2.6 kg मे से बढ़कर साल 2019 मे 4.1 kg हो गया है। जिसकी वजह से Paint Industry की कंपनिओ को लाभ होगा।
    indigo ipo review paint consumption
    समजने की बात यह है की Paint Industry मे सिर्फ 22 % ही आय पहली बार की Painting से आती है, लेकिन बाकी 78 % आय Re-Painting से आती है,
    indigo ipo review painting revenue
    और सोने पे सुहागा यह है की साल 2010 तक ज़्यादातर लोग 7 से 8 साल के बाद फीर से Paint करवाते थे जबकी साल 2019 तक यह साल भी कम हो कर करीब 4-5 साल हो गए है, यानी हर 4-5 साल मे लोग Repainting करवाते है, यह भी Paint Industry मे Growth का कारण है।
    indigo ipo review repainting cycle

    Market Share of Indigo : 

     
    Paint Industry के Decorative Paint के सेगमेंट मे Asian Paint अपने 42 % के मार्केट शेयर के साथ सबसे आगे है, जिसके बाद 12 % मार्केट शेयर के साथ Berger Paints है। Berger Paints के बाद Kansai Nerolac 7 % मार्केट शेयर, Akzo Nobel 5 % मार्केट शेयर और आखिर मे Indigo Paint 2 % मार्केट शेयर पर है।

     

    indigo ipo review market share

    हा लेकिन बाकी कंपनीओ के बाद शुरू होने के बाद भी Indigo का मार्केट शेयर 2 % तक पहुच गया है। और अगर Indigo आने वाले साल मे अपना मार्केट शेयर बढ़ाने मे सक्षम रही तो उसके लिए growth की बहुत समभावने है। हा लेकिन हमे यह नहीं भूलना चाहिए की उसके सामने Asian Paint जैसी बड़ी बड़ी चार कंपनीया है।

    तो चलिए अब बात करते है Valuation की।

    Valuation of Indigo Paint :

    Indigo Paint के लिए growth की बहुत संभावना है, लेकिन किसी भी शेयर का Valuation भी देखना जरूरी है। IPO के Price Band के हिसाब से Indigo Paint का Market Cap करीब 7087 करोड़ रुपए बन रहा है। वित्त वर्ष 2021 की पहली छ्माही मे कंपनी का कुल मूनाफा करीब 27.17 करोड़ था, जिस पर से वित्त वर्ष 2021 का शुद्ध मुनाफा करीब 54 करोड़ लिया जाए तो कंपनी का PE Ratio करीब 131 आ रहा है, जो उसके Industry PE जो की करीब 81 का है उसके मुक़ाबले बहुत ज्यादा है।

     

    हालाकी इस IPO के पैसो मे से करीब 150 करोड़ का उपयोग पुदुकोटाई तमिल नाडु मे कंपनी की Manufacturing Facilities को बढ़ाने का है, जिसकी वजह से कंपनी के Asset मे बढ़त होगी। जिसके कारण उसकी आय मे भी बढ़त होगी यह एक और सकरत्म्क बात है।

     

    इतना भर चुका है अब तक :

     

    अभी करीब 3 बजकर 20 मिनट हुई है, अब तक Indigo Paint का IPO पहले ही दिन सिर्फ NSE की website के हिसाब से Retail quota का 110 % भर चुका है, और अगर सब को मिलकर भी करीब 60 % भर चुका है, जबकी आज पहला ही दिन था ईस IPO का।

     

    साथ ही अलग अलग जगहो पर भी इस IPO का Grey Market Premium करीब 700 से 750 रुपए दिखा रहा है और बाज़ार भी अभी बढ़ा हुआ है, तो हो सकता है की Indigo Paint के शेयर की Listing अच्छे Premium पर हो।

     

    लेकिन फिर भी आपको इसमे पैसा लगाना है या नहीं यह तो आपको ही तय करना होगा।

     

    अगर Indigo के IPO के बारे मे हमारी यह Post आपके लिए उपयोगी साबित हुई हो तो इसे अपने दोस्तो और रिश्तेदारों के साथ जरूर शेयर करे। ताकी उन्हे भी इसके बारे मे पता चल सके।

     

    धन्यवाद।

     

    अगर आप शेयर बाज़ार से जुड़ी एसी ही जानकारी की Update free मे चाहते है, तो नीचे दिए गए Blue Color के (Subscribe to Updates) के Button को Click करके जो स्क्रीन खुलेगी उसमे yes का विकल्प select कर दीजिए।

    By Gaurav

    Gaurav Popat एक निवेशक, ट्रेडर और ब्लॉगर है, जो की शेयर बाज़ार मे बहुत रुचि रखता है। वह साल 2015 से शेयर बाज़ार मे है। पिछले 7 साल मे खुद अलग अलग जगह से सीख कर और अनुभव के आधार पर शेयर बाज़ार और निवेश के विषय मे यहा पर जानकारी देता है।