Mutual Fund me Invest kaise kare?
    Rate this post

    म्यूच्यूअल फंड्स में निवेश कैसे करे जिस से आप अपने वित्तीय लक्ष्य को आसानी से पा सके ? अगर आप म्यूच्यूअल फंड्स में निवेश कैसे करे वह सीखना चाहते है तो आप सही जगह पर आए है।

    यहाँ में आपको एक उदहारण के साथ म्यूच्यूअल फंड्स में निवेश कैसे करे वह बताऊंगा। मेरे एक मित्र है श्रीमान वर्मा उनके लिए हम म्यूच्यूअल फंड्स में निवेश कैसे करे वह जानेंगे। म्यूच्यूअल फंड्स में निवेश करने के कदम कुछ इस तरह के है :

     

    1 . निवेश का लक्ष्य तय करे :

    अपने निवेश का लक्ष्य तय करना वह भी कितने समय में आपको किस चीज़ के लिए कितने पैसे चाहिए वह म्यूच्यूअल फंड्स में निवेश का पहला कदम है।

    Mutual%2BFund%2Bin%2BHindi

    ज्यादातर लोगो को म्यूच्यूअल फंड्स में निवेश करने का लक्ष्य ही तय नहीं होता।

    वह बिना किसी लक्ष्य के सिर्फ ऐसे ही कितना भी निवेश शुरू कर देते है।

    यह एक बड़ी वजह है जिस से म्यूच्यूअल फंड्स में लोगो को नुकसान होता है।

    अगर आपको सच में म्यूच्यूअल फंड्स से पैसा कमाना है तो आपके पास उस में निवेश का लक्ष्य तय होना चाहिए।

    जैसे की 10 साल बाद खुदका घर लेने के लिए 25 लाख चाहिए या फिर 15 साल बाद बेटी की शादी के लिए 20 लाख चाहिए।

    या फिर 10 साल बाद बेटे की पढाई के लिए 15 लाख चाहिए।

    आज हम जिनके लिए म्यूच्यूअल फंड्स में निवेश के लिए निवेश की योजना बना रहे है, वह श्रीमान वर्मा जी का लक्ष्य 15 साल बाद बेटी की शादी के लिए 25 लाख रूपए जुटाना है।

    ऐसे ही आप भी अपना लक्ष्य तय जरूर करे।

     

    2. आपके लिए किस तरह Mutual Fundमें निवेश करना बेहतर रहेगा ?

    निवेश किस तरह करना है यह म्यूच्यूअल फंड में निवेश करने का दूसरा कदम है।

    म्यूच्यूअल फंड में निवेश करने के मुख्य दो तरीके है :

    1. Lump Sum और

    2. SIP (Systematic Investment Plan)

     

    1 .Lump Sum :

    Lump Sum निवेश करने का ऐसा तरीका है जिस में आप सारा निवेश लायक पूरा पैसा एक साथ ही निवेश कर देते है।

    यह ज्यादा जोखिम भरा और ज्यादा रिटर्न देने वाला है।

    क्योकि अगर आपने जिस समय निवेश किया उस समय बाजार निचे है और वहा से बढ़ता है तो आप बहुत पैसे बनाएँगे।

    लेकिन यदि आपने निवेश किया उस वक्त बाजार ऊपर है और वहा से निचे गिरता है तो आपको नुकसान भी बहुत हो सकता है।

    इस चीज़ से बचने में SIP का तरीका मदद करता है।

     

    2 . SIP (Systematic Investment Plan) :

    SIP या फिर Systematic Investment Plan एक तरीका है।

    Mutual%2BFund%2Bin%2BHindi%2B3

    जिस में आप अपनी निवेश की राशि और निवेश का अंतराल तय करते है।

    और फिर उस ही अंतराल में निवेश करते रहते है।

    जैसे की आपने तय किया की आप हर महीने 1000 रुपए निवेश करेंगे।

    आप इन दोनों में से कोई भी तरीका तय कर सकते है।

    मेरी आप से यह सलाह रहेगी की आप SIP के द्वारा ही निवेश करे।

    क्योकि SIP के जरिए निवेश करने पर आप बाजार की हर स्थिति में तेज़ी और मंदी में भी निवेश करते है।

    जिस की वजह से आपने ख़रीदे हुए म्यूच्यूअल फंड्स के दाम का औसत दाम हो जाता है।

    जिस से आपको लम्बे समय में अच्छा लाभ मिलता है।

    श्रीमान वर्मा एक कर्मचारी है जिस से वह Lump Sum तो निवेश नहीं कर सकते।

    इस लिए उनके लिए SIP ही बढ़िया है।

     

    3. आप कितने पैसे निवेश कर सकते है ?

    तीसरा कदम यह तय करना है की आप कितने पैसे निवेश कर सकते है।

    Mutual%2BFund%2Bin%2BHindi%2B2

    क्योकि किसी भी इंसान वह कर्मचारी हो या फिर व्यवसायी उनके कुछ सामान्य खर्च तो होते ही है।

    इस लिए उसे खुद यह तय करना होगा की वह कितने पैसे निवेश कर सकता है।

    श्रीमान वर्मा का वेतन 20 हजार रूपए प्रति माह है।

    जिसमें से वह म्यूच्यूअल फंड्स में 2500 रुपए प्रति माह निवेश कर सकते है।

    आप भी अपनी निवेश की राशि तय कर ले।

     

    4. आपके लक्ष्य को पाने के लिए कितने प्रतिशत ब्याज की जरुरत होगी ?

    अब आपको किसी कैलकुलेटर के जरिए यह पता लगाना पड़ेगा की आपकी निवेश की गई राशि से आपके लक्ष्य को पाने के लिए आपको कितना रिटर्न लेना पड़ेगा।

    इसके लिए आप SIP Calculator का प्रयोग कर सकते है।

    लेकिन एक बात का ध्यान रखे की रिटर्न का पता लगाते समय अपने लक्ष्य में 10 प्रतिशत ज्यादा ले कर रिटर्न की गणना करे।

    क्योकि म्यूच्यूअल फंड्स से पैसो को निकालते समय आपको 10 प्रतिशत LTCG भी तो देना पड़ेगा।

    श्रीमान वर्मा जी के लक्ष्य 25 लाख 15 साल बाद हासिल करने के लिए उनके निवेश 2500 रुपए प्रति माह से उन्हें 20 प्रतिशत का रिटर्न चाहिए।

     

    5. मिले हुए रिटर्न से अपने लिए म्यूच्यूअल फंड का चयन करे:

    अब आपके पास आपको कितना रिटर्न चाइए उसका जवाब होगा।

    उसके अनुसार आपको अपने लिए उचित म्यूच्यूअल फंड का चयन करना पड़ेगा।

    जैसे श्रीमान वर्मा के लिए 20 प्रतिशत का रिटर्न चाहिए। जिसके लिए उन्हें थोड़ा ज्यादा जोखिम लेना पड़ेगा।

    20 प्रतिशत के लिए वह कोई अच्छा सा MultiCap Fund चुन सकते है।

    या फिर थोड़ा ज्यादा जोखिम लेंगे तो Small Cap में निवेश कर सकते है।

    लेकिन अभी हम MultiCap fund को लेकर चलते है।

    आपको उस म्यूच्यूअल फंड को चुनना होगा जिसमे आपके लक्ष्य के अनुसार ब्याज के तो मिले ही।

    साथ में उस फंड की रेटिंग अच्छी होनी चाहिए।

    उस फंड का Expense Ratio कम होना चाहिए , उसके पिछले कम से कम पांच साल का रिटर्न अच्छा होना चाहिए।

    उसके बेंच मार्क फंड का रिटर्न ज्यादा होना चाहिए।

     

    6. अपने म्यूच्यूअल फंड्स के प्लान का चुनाव करे :

    अब आपके पास आपको जिस फंड में निवेश करना है उसका नाम आ चूका होगा।

    अब आपको यह तय करना है की आपको उस फंड के कौनसे प्लान में निवेश करना है।

    म्यूच्यूअल फंड्स में दो तरह के प्लान होते है :

    1) Regular Plan और 2) Direct Plan .

     

    1. Regular Plan:

    Regular Plan वही प्लान है जो की आपका ब्रोकर या फिर म्यूच्यूअल फंड्स डिस्ट्रीब्यूटर आपको देता है।

    यह प्लान सालो से चला आ रहा है।

    इस प्लान का Expense Ratio Direct Plan से ज्यादा होता है।

    क्युकी इस फंड में म्यूच्यूअल फंड बेचने वाले आपके ब्रोकर या डिस्ट्रीब्यूटर को कमीशन मिलता है।

    यह कमीशन उसे जब तक आप उस फंड में निवेश करेंगे तब तक मिलता रहेगा।

    इस को हटाने के लिए ही Direct Fund लाए गए है।

     

    2. Direct Plan :

    इस प्लान में किसी को भी बीचमे से कमीशन नहीं मिलता।

    क्योकि यह प्लान आप सीधा AMCs के पास से या फिर Online ही खरीद सकते है।

    जिस से इस प्लान का Expense Ratio कम होता है और इसमें रिटर्न ज्यादा मिलता है।

    Mutual Funds में कोनसा प्लान चुने – Regular Plan या फिर Direct Plan?

    अब आपने यह तय कर लिया होगा की आपको कुणसा प्लान चुनना है।

    श्रीमान वर्मा के लिए मैंने Direct Plan ही चुना है।

    सभी लोगो को मेरे अनुसार यही प्लान चुनना चाइए।

     

    7. उस फंड में कौनसा Option चुने ?

    अब आपने म्यूच्यूअल फंड और उसका प्लान तो तय कर ही लिया होगा।

    अब आपको अपने म्यूच्यूअल फंड्स का Option चुनना पड़ेगा।

    म्यूच्यूअल फंड्स में मुख्य दो तरह के Option है :

    1. Dividend Option और 2. Growth Option

     

    1. Dividend Option :

    यदि आप अपनी निवेश की राशि में से डिविडंड चाहते है तो आप यह Option ले सकते है।

    इस Option में कई बार म्यूच्यूअल फंड डिविडंड देता है जो की निवेशकों को दिया जाता है।

    यदि आप निवेश की अवधि के दौरान कुछ कमाई चाहते है तो ही इस विकल्प को चुने।

     

    2. Growth Option :

    इस प्लान में म्यूच्यूअल फंड आपको कोई डिविडंड नहीं देता है।

    Mutual%2BFund%2Bin%2BHindi%2B1

    जिस से उस फंड की NAV बढ़ी हुई होती है और आख़िर में निवेशक को ज्यादा रिटर्न मिलता है।

    इसी लिए इसे Growth Plan कहते है।

    आप अपने लिए अपनी स्थिति के अनुसार कोई भी चुन सकते है।

    मैंने श्रीमान वर्मा के लिए Growth Option चुना है।

     

    8. Online म्यूच्यूअल फंड का निवेश ऐसे करे :

     

    आप Direct म्यूच्यूअल फंड्स में निवेश AMCs की ऑफिस में जाकर भी कर सकते है।

    और Online निवेश AMC की अपनी Websites से कर सकते है।

    जैसे अगर आपने HDFC का कोई म्यूच्यूअल फंड चुना है तो आप HDFC Mutual Funds की अपनी website पर जा कर निवेश करे।

    आप कई और भी म्यूच्यूअल फंड्स में निवेश करने के लिए बनी अच्छी Website का प्रयोग कर सकते है।

    जैसे की Groww , Paisabazaar, Kuvera और भी बहुत सी है।

    इस तरह आप अपने तय किये हुए म्यूच्यूअल फंड में निवेश कर सकते है।

    आशा करता हु की आपको Mutual Fund में निवेश के बारे में समझमे आ गया होगा।

    दोस्तों यदि आपको हमारी दी हुई जानकारी अच्छी लगी हो तो इसे Social Media में जरूर Share करे।

    अगर आप शेयर बाज़ार से जुड़ी एसी ही जानकारी की Update free मे चाहते है, तो नीचे दिए गए Blue Color के (Subscribe to Updates) के Button को Click करके जो स्क्रीन खुलेगी उसमे yes का विकल्प select कर दीजिए।

    By Gaurav

    Gaurav Popat एक निवेशक, ट्रेडर और ब्लॉगर है, जो की शेयर बाज़ार मे बहुत रुचि रखता है। वह साल 2015 से शेयर बाज़ार मे है। पिछले 7 साल मे खुद अलग अलग जगह से सीख कर और अनुभव के आधार पर शेयर बाज़ार और निवेश के विषय मे यहा पर जानकारी देता है।