NSC vs PPF in Hindi

NSC vs PPF.

दोस्तों इस से पहले हमने NPS vs PPF के बारे में जाना था।

और देखा था की उन दोनों में से किस में निवेश में ज्यादा लाभ है।

आज हम NSC यानि राष्ट्रिय बचत पत्र और PPF की तुलना करेंगे और देखेंगे की इन दोनों में से कौन सबसे ज्यादा लाभ देने वाला निवेश है।

 

NSC vs PPF (NSC और PPF की तुलना) :

nsc vs ppf

ऊपर दीए गए मुद्दों में से कुछ बहुत जरुरी और उन के आवला भी कुछ मुद्दे है जो की निचे दिए है।

  • NSC मे निवेश की राशि पर Section 80C के अंतर्गत 1.5 लाख तक की टैक्स छूट ले सकते है। PPF में निवेश पर भी हम Section 80C के तहत 1.5 लाख तक छूट ले सकते है।
  • NSC में निवेश की गई राशि 5 साल के लिए लॉक हो जाती है, जबकि PPF में यह लॉक इन समय 15 साल का है। इस लिए निवेशक को NSC के मुकाबले PPF में 10 साल ज्यादा निवेशीत रहना होगा।
  • PPF का खाता एक व्यक्ति पुरे जीवन काल में सिर्फ एक ही बार खुलवा सकता है, जबकि NSC में एक व्यक्ति कभी भी और कितनी भी बार निवेश कर सकता है।
  • PPF में लोन 3 साल से 7 साल के बिच में ही मिल सकती है, जबकि NSC में कभी भी बैंक से लोन मिल सकता है।
  • NSC में निवेश से मिले हुए ब्याज को निवेश के 4 साल तक ही सेक्शन 80C के तहत कर से मुक्ति ले सकते है , पांचवे साल मिले हुए ब्याज पर कर चुकाना होगा।

जबकी PPF में से मिला हुआ ब्याज कर मुक्त है।

 

मेरे अनुसार किस में निवेश ज्यादा लाभदायी है ?

मेरे अनुसार अगर कोई निवेशक एकमुश्त निवेश कर उस पर ब्याज पाना चाहता हो तो उसके लिए NSC  बेहतर है।

यदि उसके पास एकमुश्त राशि नहीं है, तो वह पहले किसी बैंक या डाक घर में Recurring Deposit (RD) के द्वारा थोड़ी थोड़ी राशि से बड़ी राशि जमा कर सकता है।

और फिर उस राशि को एकमुश्त NSC में निवेश कर सकता है।

लेकिन अगर निवेशक एकमुश्त राशि निवेश नहीं करना चाहता तो वह PPF में थोड़ी थोड़ी राशि निवेश कर सकता है।

और PPF मे निवेश से मिली हुई पूरी राशि पर टैक्स से मुक्ती भी मिलेगी।

जिस से PPF में निवेश भी एक सामान्य निवेशक के लिए बहुत लाभदाई हो सकता है।

 

निष्कर्ष :

तो दोस्तो यह थी NSC और PPF की तुलना। उम्मीद करता हु दोस्तों आप NSC vs PPF की उलझन को सुलझा पाए होंगे।

ऐसी ही अच्छी जानकारी प्राप्त करने के लिए हमारे Facebook Page को Like करे।

अगर आप शेयर बाज़ार से जुड़ी एसी ही जानकारी की Update free मे चाहते है, तो नीचे दिए गए Blue Color के (Subscribe to Updates) के Button को Click करके जो स्क्रीन खुलेगी उसमे yes का विकल्प select कर दीजिए।

By Gaurav

Gaurav Popat एक निवेशक, ट्रेडर और ब्लॉगर है, जो की शेयर बाज़ार मे बहुत रुचि रखता है। वह साल 2015 से शेयर बाज़ार मे है। पिछले 7 साल मे खुद अलग अलग जगह से सीख कर और अनुभव के आधार पर शेयर बाज़ार और निवेश के विषय मे यहा पर जानकारी देता है।