Financial Statement kya hai?
    5/5 - (1 vote)

    Financial Statement kya hai?

    इससे पहले हम जान चुके है, की क्यु समझे शेयर बाजार में निवेश से पहले कंपनी के व्यापर को ?

    हमने D’Mart के उदाहरण से समझा भी था।

    इस लिए आप अब किसी कंपनी के Business को समझना तो सिख गए होंगे।

    फिर भी हम कुछ कंपनीओ के Business के बारे में जानते रहेंगे।

    लेकिन आज हम समझेंगे की Financial Statements of a Company क्या होते है ?

    और इन्हे पढ़ना और समझना एक निवेशक के लिए क्यु जरुरी है ?

    तो आइए जानते है की, Financial Statement kya hai?

    निवेशक के लिए क्यु जरुरी है Financial Statements को पढ़ना और समझना ?


    क्या आपने अपने किसी रिश्तेदार के साथ किसी भी व्यवसाय में 50-50 % की पार्टनरशिप की है ?

    यदि की होगी तो क्या आप उस व्यापार में क्या चल रहा है वह देखते थे ?

    जैसे की कितना सामान बिक रहा है, कितने खर्च हो रहे है ? कितना मुनाफा हो रहा है ?

    जरूर देखते होंगे ना ? Financial Statement kya hai?

    बल्कि इस से ज्यादा देखते होंगे।

    तो किसी भी कंपनी में शेयर खरीद कर निवेश करना एक Partnership ही तो है।

    हा लेकिन Partnership कितनी है,वह तो आपकी निवेश की राशि पर आधारित है।

    ज्यादातर हम जैसे सामान्य लोग बहुत कम राशि में ही कंपनी में निवेश करते है।

    जिस से हमारी उस कंपनी में Partnership बहुत कम प्रतिशत की होती है।

    और यह कंपनी बहुत सालों से व्यापार कर रही होती है। Financial Statement kya hai?

    जिस से हम उसके सालो के व्यापार की स्थिति के बारे में जानकर यह अनुमान लगा सकते है, की यह कंपनी का business कितना अच्छा है।

    और क्या यह कंपनी वह Business को अच्छे से चला रही है ?

    तो यह सब हमें इन कंपनीओ के Financial Statements से ही तो पता चलता है।

    इसी लिए हमें उन कंपनीओ के Financial Statements पढने चाहिए जिनमे हम निवेश करने की सोच रहे है।

    ताकि हमें उस कंपनी की स्थिति के बारे में पता चल सके।

    हो सकता है, की हम जिस कंपनी में निवेश करना चाहते है, वो कंपनी क़र्ज़ में डूबी हुई हो।

    और ऐसे में हमारे पैसो का नुकसान होने का खतरा रहता है। Financial Statement kya hai?

    यदि आपने इनके Financial Statements को पढ़ लिया होगा तो आप जानते होंगे की वह कंपनी क़र्ज़ में है।

    और उसमे निवेश न कर आप अपने पैसो को बचा सकते है।

    तो अब तो आप समझ ही गए होंगे की निवेश से पहले किसी भी कंपनी के Financial Statement को पढ़ना क्यु है जरुरी।

     

    Financial Statements of a Company क्या होते है? (Financial Statement kya hai?)

    तो जैसा की हम जान चुके है की ,

    किसी भी कंपनी के Financial Statements, उस कंपनी के Business (व्यापार) और उसकी Financial Position (वित्तीय स्थिति) के बारे में बताते है।

    यह खुद कंपनीओ द्वारा बनाए जाते है और फिर उन्हें Auditors द्वारा Audit किया जाता है।

    ताकि यह निश्चित किया जा सके की कंपनी ने बनाये हुए Financial Statement सही हो।

    क्युकी इस पर भरोसा कर के ही निवेशक उस कंपनी में पैसा निवेश करते है। Financial Statement kya hai?

     

    Three Financial Statements of a Company :


    किसी भी कंपनी के तीन Financial Statement होते है :

    1. Income Statement या Profit & Loss Statement.
    2. Cash Flow Statement
    3. और Balance Sheet

    1) Income Statement या Profit & Loss Statement :


    अपने नाम की तरह ही किसी भी कंपनी का Income Statement या Profit & Loss Statement हमें बताता है की,

    कंपनी की आय कितनी है ? Financial Statement kya hai?

    उसके खर्च कितने है ?

    कंपनी का प्रॉफिट यानि लाभ कितना है ?

    कंपनी Tax कितना चुकाती है ?

    प्रत्येक शेयर पर कंपनी कितना पैसा कमाती है। Financial Statement kya hai?

    इन सभी चीज़ो को अच्छी तरह दर्शाया जाता है, जिस से बनता है Income Statement .

    यानि Income Statement हमें कंपनी की Profitability के बारे में बताता है।

    यहाँ पर मैंने ABC कंपनी जो की जूता बनती है उसका Income Statement दिया है।

    इसमें आप देख सकते है, की ABC कंपनी की आय , खर्च और मुनाफ़ा कितना है।

    Financial Statements of a Company

    Financial Statements Of a Company में दूसरा है,

     

    2) Cash Flow Statement :


    Income Statement से कंपनी की आय, खर्च और मुनाफे का पता लगता है , लेकिन कंपनी के पास पैसा कितना आया और गया यह पता नहीं चलता।

    जैसे हो सकता है, की कंपनी ने इस बार 100 करोड़ का मुनाफ़ा कमा लिया हो लेकिन उसके पास सिर्फ 50 करोड़ का ही Payment आया हो।

    और बाकि का Payment आना बाकि हो। Financial Statement kya hai?

    इसके आलावा हो सकता है, की कंपनी ने Supplier को Payment न किया हो।

    ऐसे में कंपनी के द्वारा किए जाने वाले पैसो का लेंन देन जानने के लिए Cash Flow Statement बनाया जाता है।

    जिस से सही में पता चलता है, कंपनी के पास इस साल कितना पैसा आया कितना पैसा कंपनी ने चूका दिया ,कितना पैसा आना बाकि है।

    किसी भी कंपनी के Cash Flow Statement को तीन हिस्सों में बांटा जाता है :

    1. Cash From Operating Activity
    2. Cash From Investing Activity
    3. और Cash From Financing Activity

     

    i) Cash From Operating Activity :

    इस हिस्से में कंपनी के व्यापार के द्वारा आने वाले और जाने वाले Cash को दर्शाया जाता है। Financial Statement kya hai?

    जैसे जूता बेचने वाली कंपनी ABC के पास जूता बेचके जो भी पैसा आता है, तथा कंपनी ने Raw Material के लिए जितना पैसा दे दिया है।

    इन सभी को Cash From Operating Activity में लिखा जाएगा।

     

    ii) Cash From Investing Activity :


    इस जगह पर कंपनी के द्वारा किए जाने वाले किसी निवेश या बेचे जाने वाले किसी निवेश से मिला हुआ या गया हुए पैसो के बारे में लिखा जाएगा।

    जैसे ABC कंपनी ने कोई अपनी पुरानी मशीन बेचीं और नई मशीन खरीदी तो उन दोनों प्रक्रिया में हुए पैसो के लेंन देन को यहाँ लिखा जाएगा। Financial Statement kya hai?

     

    iii) Cash From Financing Activity :


    इस हिस्से में कंपनी द्वारा की जाने वाली Financial Activity में हुए Transaction को दर्शाया जाएगा।

    जैसे अगर ABC कंपनी ने अपने लम्बे समय के क़र्ज़ को चूका दिया है, और इसके लिए उसने नए शेयर जारी कर के पैसा इकठ्ठा किया है।

    तो ऐसे सभी Transaction को यहाँ पर दर्शाया जाएगा।

    इन तीनो Activities में अगर पैसा कंपनी के पास आया है, तो उस पैसो को आपस में जोड़ा जाएगा और उनमें से जो पैसा कंपनी में से बहार गया है, उसे घटाया जाएगा।

    जैसे ऊपर हमने ABC कंपनी का उदहारण लिया था उसका Cash Flow Statement कुछ इस तरह होगा।

    Financial Statements of a Company


    Financial Statements Of a Company में तीसरा होगा,

     

    3) Balance Sheet :


    कंपनी की Balance Sheet में कंपनी की संपत्ति (Assets) तथा दाइत्वों (Liabilities) को दर्शाया जाएगा।

    जैसे कंपनी के Plan या Machine को संपत्ति में तथा कंपनी के ऊपर का क़र्ज़ और उसकी Equity यानी शेयर बेचकर जुटाया गया पैसा दाइत्वों में लिखा जाएगा।

    इन्हे आप Source Of Funds और Application of Funds की तरह भी दिखा सकते है।

    मतलब की पैसा कहा से आया और उन पैसो का उपयोग कहा हुआ।

    एक बात हमेशा ध्यान रखे की Balance Sheet में कुल संपत्ति और कुल दाइत्वों की कीमत समान ही होनी चाहिए।

    जो की होगी ही।

    क्युकी आपके पास जितना पैसा है, उतना ही आप उपयोग कर सकते है।

    यहाँ पर मैंने ABC कंपनी की Balance Sheet का उदाहरण दिया है।

    Financial Statements of a Company

    इसके जरिए आप बहुत ही आसान तरीके से Balance Sheet को समझ सकते है।

    यहाँ पर मैंने बहुत ही आसान भाषा में सामान्य उदाहरण से Financial Statements Of a Company को समझाने की कोशिस की है।

    जिस से कोई भी आम इंसान जो Finance के Background से न हो वह बहुत आसानी से इन्हे समझ सकता है।

    आने वाले दिनों में हम इन सभी को बहुत ही अच्छी तरह से एक एक कर के विगतवार समझेंगे।

    इस लिए अगर अब तक आपने हमारे Free Newsletter को Subscribe न किया हो तो तुरंत निचे दि गई लिंक से Subscribe कर ले। Financial Statement kya hai?

    और Subscribe करने के बाद आपके Email ID पर हमारी तरफ से एक Email आएगा जिसमे दी गई लिंक में जाकर अपना Subscription Confirm जरूर कर ले।

    अगर आप Subscription Confirm नहीं करेंगे तो आपको हमारी नई पोस्ट का Email नहीं आएगा।

    Subscription Link : Subscribe Now

    उम्मीद करता हु दोस्तों आपको मेरी सरल भाषा में Financial Statement kya hai? वह समझाने की कोशिस पसंद आइ होगी।

    इसके बारे में मुझे Comment में जरूर बताए।

    धन्यवाद।

    अगर आप शेयर बाज़ार से जुड़ी एसी ही जानकारी की Update free मे चाहते है, तो नीचे दिए गए Blue Color के (Subscribe to Updates) के Button को Click करके जो स्क्रीन खुलेगी उसमे yes का विकल्प select कर दीजिए।

    By Gaurav

    Gaurav Popat एक निवेशक, ट्रेडर और ब्लॉगर है, जो की शेयर बाज़ार मे बहुत रुचि रखता है। वह साल 2015 से शेयर बाज़ार मे है। पिछले 7 साल मे खुद अलग अलग जगह से सीख कर और अनुभव के आधार पर शेयर बाज़ार और निवेश के विषय मे यहा पर जानकारी देता है।