Intraday Trading in Hindi

दोस्तो हमे पिछले कई दिन से आप लोगो की तरफ से Intraday Trading in Hindi के बारे मे जानकारी देने के लिए कहाँ जा रहा है।तो इस वजह से आज हम आपको इसके बारे मे ही विस्तार से बताने वाले है।

 

इंट्राड़े ट्रेडिंग क्या है? (Intraday Trading in Hindi) 

 

दोस्तो इस से पहले की हम Intraday Trading के बारे मे समजे हमे पहले यह जान करी होनी चाहिए की Trading क्या होती है। वैसे तो हमने इसके बारे मे Trading Meaning in Hindi की post मे बता चुके है, लेकिन यहाँ पर थोड़ा संक्षेप मे बता देते है।

Trading का मतलब खरीदना और बेचना होता है। कोई भी वस्तु जो आप खरीदकर उस से मुनाफा कमाने के लिए बेचते है, उस प्रक्रिया को Trading कहाँ जाता है। लेकिन शेयर बाज़ार मे यह वस्तु और कोई नहीं बल्कि शेयर होती है।

मतलब शेयर बाज़ार मे Trading का मतलब शेयर को मुनाफा कमाने के लिए खरीदना और फिर उसको बेचना। तो चलिए अब जानते है की

 

Intraday Trading in Hindi क्या है?

 

आप लोग यह तो जानते ही है, की भारतीय शेयर बाज़ार सुबह 9:15 पर खुलता है और दोपहर 3:30 पर बंद हो जाता है। इस समय के बीच मे भारतीय शेयर बाज़ार मे आप अगर चाहे तो शेयर खरीद भी सकते है और बेच भी सकते है। एसे मे अगर आपने एक ही दिन मे market hours के दौरान अगर कोई शेयर खरीदा और उसी दीन बाज़ार बंद होने से पहले बेच दिया तो उसे Intraday Trading In Hindi कहा जाता है।

नहीं समजे ? कोई बात नहीं चलो

 

Intraday Trading in Hindi को उदाहरण से समजे :

 

सोचिए की आज आपने भारतीय शेयर बाज़ार 9:15 खुलने के बाद करीब 9:25 को Reliance Industries के 5 शेयर करीब 2700 रुपए पर खरीदे। फिर आप आपके काम मे लग गए। Intraday Trading in Hindi

intraday trading in hindi

करीब 1 घंटे बाद आपने देखा की Reliance Industries के एक शेयर का दाम 2700 रुपए मे से 2750 रुपए हो चुका है। मतलब शेयर का दाम 50 रुपए प्रति शेयर के हिसाब से बढ़ चुका है। अच्छा मौका देखते हुए आपने जो 5 शेयर 1 घंटे पहले खरीदे थे वह शेयर 2750 रुपए मे बेच दिए। जिसमे से आपको 50 रुपए प्रति शेयर के हिसाब से 5 शेयर के 250 रुपए का मुनाफा मिल गया।

इसे Intraday Trading कहा जाता है। क्यूकी इसमे आपने जिस दिन Reliance Industries के शेयर खरीदे उसी दिन बाज़ार बंद होने से पहले वह शेयर बेच भी दिए। शेयर की खरीद और बिक्री दोनों एक ही दिन मे हो गई इस के लिए यह Intraday Trading कही जाएगी। Intraday Trading in Hindi

हाँ लेकिन यहाँ पर यह बात भी ध्यान रखे की एसा बिलकुल भी जरूरी नहीं है की, Intraday Trading मे आपको रोज़ रोज़ मुनाफा ही होगा। आपको कई बार नुकसान भी हो सकता है।

 

मे पागल थोड़ी ना हु जो नुकसान मे बेच दूंगा :

 

अगर आप भी यह सोच रहे है की अगर आपने जो शेयर खरीदा वह अगर बढ़ेगा तो ही आप बेचेंगे और घटेगा तो नहीं बेचेंगे तो आप गलत रास्ते पर है। Intraday Trading एसे नहीं होता है। इसमे आपको नुकसान मे भी बेचना पड़ता है। जी हा आपको कई बार नुकसान मे भी बेचना पड़ता है।

इसका कारण आपको आगे विस्तार से जानने को मिल जाएगा। इस लिए आगे पढ़ते रहिए। इस से पहले हम जान लेते है की,

 

इंट्राड़े ट्रेडिंग कैसे करते है ?

 

दोस्तो Intraday Trading करने के लिए आपको Stock Exchange मे शेयर खरीदने और बेचने का order भेजना पड़ता है। यह काम आप सीधा नहीं कर सकते है। आपको इसके लिए किसी Stock Broker की जरूरत होती है। उसके वहाँ पर आपको अपना Trading Account खुलवाना पड़ता है। फिर उस Trading Account के जरिए ही आप Stock Exchange मे शेयर खरीदने और बेचने के लिए Order भेज सकते है।

Trading Account कैसे खोले उसके लिए हमने विस्तार से यहाँ पर जानकारी दे दी है : Trading Account कैसे खोले ? 

एक बार आपका Trading Account खुल गया उसके बाद आपको यह जानना होगा की आप किस तरह से किसी कंपनी के शेयर खरीद और बेचने के लिए Order Stock Exchange पर भेज सकते है। Intraday Trading in Hindi

हमने यहाँ पर Step by Step बताया है की, आप Upstox मे शेयर कैसे खरीद और बेच सकते है?

 

दोस्तो अब आपको Upstox मे शेयर कैसे खरीदे और बेचे उसके बारे मे Step by Step जानकारी मिल चुकी होगी। तो चलिए अब जान लेते है की, Intraday Trading in Hindi

 

इंट्राडे ट्रेडिंग में लाभ कैसे प्राप्त करें?

 

अगर आप Intraday Trading मे लाभ कमाना चाहते है, तो आपको नीचे की कुछ बातों का खास ध्यान रखना पड़ेगा।

 

1) बढ़ सके एसे शेयर select करे :

 

दोस्तो Intraday Trading in Hindi (इंट्राड़े ट्रेडिंग) मे आपको एसे शेयर खोजने होंगे की जो आपको कुछ घंटो मे ही बढ सकते हो। क्यूकी तभी तो आप उसी दिन शेयर खरीदकर फिर उसी दिन बाज़ार बंद होने से पहले शेयर बेच पाएंगे।

 

2) जीन शेयरो मे volume हो वह select करे :

 

इसके साथ ही आपको यह भी ध्यान रखना होगा की आप जो शेयर मे Trading करे उन शेयरो मे पर्याप्त Volume हो। मतलब की एसे ही शेयर चुने जिसमे बढ़ी मात्र मे उस शेयर की खरीददारी और बिकवाली होती हो। नहीं तो आपके साथ फिर एसा होगा की आपने जो शेयर खरीद लिया है वह बढ़ तो जाएगा आप उस शेयर को बेचने का Order भी रख देंगे, लेकिन सामने उसमे कोई खरीदने वाला होगा ही नहीं।

share bazar me volume kya hai

अगर सामने कोई खरीदने वाला नहीं होगा तो आपका शेयर बिकेगा किसको ?  Intraday Trading in Hindi

साथ ही जो शेयर मे बहुत कम volume होता है, उन शेयर मे खरीदने के और बेचने के दोनों Price मे difference बहुत हो सकता है। मतलब एसा हो सकता है, की अपने कोई शेयर 100 मे खरीदा हो उसका LTP (Last Traded Price) अभी 110 पर पहुच चुका हो, तो आपको लगा चलो 10% का रिटर्न मिल रहा है, बेच देता हु।

लेकिन जब आपने ठीक से देखा तो पता चला की खरीदने का Price तो अभी 98 रुपए चल रहा है। जी हाँ एसा हो सकता है। क्यूकी खरीदने वाले ने अगर Limit Price मे 98 रुपए मे खरीदने का order भेजा है और 98 से ऊपर खरीदने का कोई order ही नहीं है, तो अगर सीधे market price पर आपके शेयर बेच देंगे तो आपके शेयर 110 रुपए के बदले 98 रुपए पर बिक जाएंगे। Intraday Trading in Hindi

जिस से आपको 10 रुपए प्रति शेयर के Profit के बदले 2 रुपए प्रति शेयर का नुकसान हो जाएगा। लेकिन अगर आप भी Limit Price मे 110 रुपए मे बेचने का order भेजेंगे तो जब तक कोई व्यक्ति 110 रुपए मे शेयर खरीदने का order नहीं रखता तब तक आपका शेयर बिकेगा ही नहीं। हो सकता है, पूरे दिन एसा हो ही ना और आपका शेयर बिके ही ना।

 

3) आपको Stop Loss क्या है वह पता होना चाहिए :

 

दोस्तो शेयर बाज़ार मे शेयर के दाम 1 second मे भी कई बार बदलते है और इसमे कोई Fix Limit (Circuit Filter के अलावा) नहीं है, की शेयर कितना बढ़ सकता है और कितना गिर सकता है।  Intraday Trading in Hindi

इस लिए आपकी Trading Capital जीतने पैसा लगाकर अपने Trading शुरू की है, उसको बड़े नुकसान से बचाने के लिए आपको Stop Loss क्या है वह समजना बहुत जरूरी है। क्यूकी अगर Trading मे आपने अपनी Trading Capital को खो दिया तो फिर आपका खेल खत्म आपको फिर से दूसरा पैसा डालना पड़ेगा जो हर किसी के बस मे नहीं होता है।

Stop Loss kya hai?

Stop Loss अपने नाम की तरह ही आपकी Trading Capital को बड़े Loss को Stop करता है। क्यूकी जैसे हमने आपको पहले ही बताया की शेयर बाज़ार मे कोई भी शेयर 1 दिन मे कितना बढ़ेगा और कितना गिरेगा उसका कोई Fix Limit नहीं होता। तो एसे मे अगर आपने कोई शेयर 100 रुपए मे खरीदा और 1 घंटे के बाद वह 90 रुपए तक गिर गया तो ?

आप क्या करेंगे ? आपको तो प्रति शेयर 10 रुपए का नुकसान होगा और अगर आपने 100 शेयर खरीदे है तो आपको तो 1000 रुपए का नुकसान हो गया ना ?   Intraday Trading in Hindi Intraday Trading in Hindi

अगर एसा हो की अब वह शेयर उस पूरे दिन मे 90 रुपए से ऊपर जाए ही नहीं तो ? तब आप क्या करेंगे ?

ज़ाहिर है की आप सोचेंगे की 1 – 2 दिन का इंतज़ार करेंगे। ताकि नुकसान मे ना बेचना पड़े। यही ना?

लेकिन क्या हो अगर वह शेयर अगले 10 साल तक आपके दाम पर आए ही ना ? तब आप क्या करेंगे ? कितने दिन या महीने या साल तक इंतज़ार करेंगे ? फस गए ना ?

बुरा मत मानिए लेकिन एक नया आया हुआ सामान्य Trader यही सोचता है और यह उसकी दुनिया की सबसे बड़ी गलती है। अब आप सोचेंगे एसा क्यू ?   Intraday Trading in Hindi  Intraday Trading in Hindi

तो एसा इस लिए क्यूकी Intraday Trading एसे कभी भी नहीं होती और एसे आप कभी कभी कुल मुनाफे मे नहीं आ सकते। हो सकता है की महीने मे 22 दिन मे से आप 20 दिन इस तरह से Intraday Trading कर के पैसा कमा ले। लेकिन बाकी के 2 दिन एसे होंगे की आपने 20 दिनमे जो कमाया होगा वह तो लेकर जाएगा ही। साथ मे आपकी Trading Capital का मोटा हिस्सा भी लेकर जाएगा। तो एसा होने से बचने के लिए आपको Stop Loss क्या है उसके बारे मे जानकारी होनी चाहिए।

तो चलिए पहले जान लेते है की

 

Stop Loss क्या होता है ?

 

दोस्तो Stop Loss एक Order होता है, जो की एक निश्चित Price पर आपके setup के हिसाब से रखा जाता है। यह ऑर्डर तभी Execute होता है, जब उस निश्चित price पर शेयर का दाम जाता है।   Intraday Trading in Hindi

उदाहरण के तौर पर अगर आपने कोई शेयर 100 रुपए पर खरीदा और आपका Stop Loss 98 रुपए पर है, तो जब तक 98 रुपए तक उस शेयर का दाम नही जाता तब तक Stop Loss order Execute नहीं होता। लेकिन जैसे ही 98 रुपए पर गया आपने जो शेयर 100 रुपए मे खरीदे वह 98 रुपए मे बिक जाएंगे।

“लेकिन तो इसमे तो नुकसान होगा ना ? ” आप यही सोच रहे है, ना ?

हा नुकसान तो होगा लेकिन इस नुकसान मे भी आपको दो लाभ है। बताता हु कैसे लाभ वह।

पहला लाभ यह की पहले जैसे हमने बताया की अगर 100 रुपए वाला शेयर 90 तक गिर गया तो आपको 10 रुपए प्रति शेयर का नुकसान हो जाता वैसे इसमे अभी आपको सिर्फ 2 रुपए प्रति शेयर का नुकसान होगा उस से ज्यादा नुकसान नहीं होगा। मतलब आपने जितना Stop Loss रखा है, उस से ज्यादा आपका Loss नहीं होगा। जिस से आपको यह पता रहेगा की आपका उस trade मे अधिकतम नुकसान कितना जा सकता है? और उतना नुकसान आप ले पाएंगे या नहीं?

दूसरा लाभ यह है, की 2 रुपए का नुकसान तो किया लेकिन बाकी की Trading Capital तो बच गई ना? जिसके जरिए आप उसी दिन मे किसी और कंपनी के शेयर खरीद सकते है और उसमे मुनाफा कमा सकते है। जिस से आपकी Trading Capital पूरी block नहीं हो जाएगी और आपको दूसरे शेयर मे Trading करने के लिए फिर से नया पैसा डालने की जरूरत नहीं है।

अब पहले की तरह सोचिए की आपने महीने मे 22 दिन Trade किया और सभी दिन आपने Stop Loss रखा जिसमे से करीब 14 दिन आपको मुनाफा मिला और 8 दिन आपका Stop Loss चला गया जिस से आपको नुकसान हुआ। अब सोचिए की अगर आप 1 रुपए के stop loss पर 2 रुपए का target रखते है, तो 14 दिन के हिसाब से आपको कुल 28 रुपए का Profit हुआ और 8 दिन के हिसाब से आपको 8 रुपए का नुकसान हुआ।   Intraday Trading in Hindi

अगर कुल मुनाफा देखा जाए तो आप Stop Loss की वजह से नुकसान के बाद भी 20 रुपए प्रति शेयर के मुनाफे मे है। हालांकि इसमे से Brokerage – Tax आदि कट जाएंगे लेकिन फिर भी आपको अच्छा मुनाफा मिलेगा।

अब पहले के उदाहरण जिसमे बिना Stop Loss के trading किए थे और अभी Stop Loss के साथ उदाहरण लिया, आप ही सोचिए की इन दोनों मे से कौनसा तरीका बेहतर है?   Intraday Trading in Hindi

 

4) आपके पास आपका खुद का कोई Trading Plan होना चाहिए :

 

दोस्तो जैसे आप कोई भी Business करते है, तो आपका कुछ न कुछ plan होता है, जैसे आप निवेश कितना करेंगे। किस तरह से आगे बढ़ेंगे आदि आदि। वैसे ही Intraday Trading से लाभ कमाने के लिए भी आपके पास आपका Trading Plan होना चाहिए।

Trading Plan kya hai

जिसमे आपको कम से कम इन प्रश्नो का जवाब मिलना चाहिए :

1) आपका Trading Capital कितना है ? Intraday Trading in Hindi

2) आपके Capital पर आप हर रोज़ अधिकतम कितना जोखम ले सकते है?

3) हर एक trade मे आप कुल कितना जोखिम उठा सकते है? और आपका प्रति शेयर Stop Loss क्या रहेगा?

4) आप एक दिन मे कितने Trade करेंगे ? Intraday Trading in Hindi

Trading Plan होने से और उसको ठीक से Follow करने से आपकी Trading बेहतर होगी और आपका पूरा Trading Capital डूबेगा नहीं।

 

5) आपके पास आपकी Trading Strategy होनी चाहिए :

 

दोस्तो आपके पास Trading Plan के अलावा आपकी कुछ Trading Strategy भी होनी चाहिए। जैसे Trading कैसी condition मे आप शेयर Buy करेंगे और कहा Stop Loss रखेंगे?

आपका Target कहाँ रहेगा?   Intraday Trading in Hindi

कब आप Trade करेंगे ? और कब Trade नहीं करेंगे ? आदि आदि।

यह सब बाते तो मुख्य है दोस्तो, इसके अलावा बहुत सी बाते है, Intraday Trading एक एसा विषय है, जिस पर पूरी पुस्तक लिखी जा सकती है। सभी चीज़ इस एक ही Post मे समजाना संभव नहीं है और आज कल कोई इतना लंबा चौड़ा पढ़ता नहीं है। फिर भी अगर आपको इसके बारे मे और जानना हो तो आप हमे Comment मे बता दीजिएगा मे ज्यादा comments जिस पर आएगी उस हिसाब से उस विषय पर Post लिख कर आपको जानकारी दे दूंगा।

अगर आप शेयर बाज़ार से जुड़ी एसी ही जानकारी की Update free मे चाहते है, तो नीचे दिए गए Blue Color के (Subscribe to Updates) के Button को Click करके जो स्क्रीन खुलेगी उसमे yes का विकल्प select कर दीजिए।

By Gaurav

Gaurav Popat एक निवेशक, ट्रेडर और ब्लॉगर है, जो की शेयर बाज़ार मे बहुत रुचि रखता है। वह साल 2015 से शेयर बाज़ार मे है। पिछले 7 साल मे खुद अलग अलग जगह से सीख कर और अनुभव के आधार पर शेयर बाज़ार और निवेश के विषय मे यहा पर जानकारी देता है।