MEP Infrastructure Ltd share news

    Share Market News Today in Hindi

    जी हा दोस्तो 15 मिनट मे निवेशको को हुआ 5 लाख करोड़ का नुकसान। हम बात कर रहे है, आज यानी शुक्रवार सुबह की जिसमे बाज़ार के खुलने के सुबह सुबह 15 मिनट के अंदर ही निवेशको के करीब 5 लाख करोड़ रुपए डूब गए है।

    सुबह 15 मिनट मे ही डूब गए 5 लाख करोड़ :

    RBI के द्वारा अचानक repo rate 40 bps बढ़ाने की वजह से शेयर बाज़ार मे मंदी का माहौल छा चुका है। एसे मे पिछले 2 दिन से लगातार शेयर बाज़ार मे भारी बिकवाली देखने को मिल रही है। यह बिकवाली की वजह से भारतीय शेयर बाज़ार बहुत नीचे गिर रहे है।

    इसी कड़ी मे आज सुबह यानी की शुक्रवार सुबह 9:15 पर जब भारतीय शेयर बाज़ार खुले तो उसके सिर्फ 15 मिनट के अंदर मतलब की करीब सुबह 9:30 तक ही भारतीय शेयर बाज़ार मे निवेशको के करीब 5 लाख करोड़ रुपए डूब गए है। Share Market News Today in Hindi

    क्यूकी BSE का Market Cap करीब 259.64 लाख करोड़ रुपए था, जो की सिर्फ 15 मिनट मे ही गिर कर 254.83 लाख करोड रुपए हो चुका था। मतलब की करीब 4.8 लाख करोड़ रुपए का नुकसान हो गया वह भी सिर्फ शुरुआती 15 मिनट मे।

     

    BSE मे करीब 2320 शेयर मे छाई भारी मंदी :

    BSE यानी की Bombay Stock Exchange मे कुल शेयरो मे से करीब 2320 शेयर मे भारी मंदी छाई हुई थी। 447 शेयर मे थोड़ी बहुत तेज़ी देखने को मिली, जबकि बाकी के 76 शेयर वही के वही ट्रेड कर रहे थे।Share Market News Today in Hindi

    मोटा मोटी बात करे तो ज़्यादातर शेयरो मे मंदी का ही माहौल छाया हुआ था।

     

    Asian मार्केट के मुक़ाबले आई कम बिकवाली :

    इतनी मंदी के बावजूद भी भारतीय शेयर बाज़ार asian market मे आयी 4% की बड़ी गिरावट की तुलना मे सिर्फ 1% ही गिरे है। Sensex और Nifty दोनों मे 1 % की बिकवाली देखने को मिली।  Share Market News Today in Hindi

     

    भारी बिकवाली के मुख्य कारण :

    यहाँ पर हमने कुछ कारण बताए है, जिनकी वजह से भारतीय शेयर बाज़ार के साथ global market मे भी भारी मंदी का माहौल छाया हुआ है। तो चलिए जानते है, कौनसे कौनसे है यह कारण।

     

    1) Bank Of England ने बढ़ाया महंगाई का अनुमान :

    गुरुवार के दिन Bank Of England ने सूचित किया है, की UK की Economy साल 2023 मे shrink हो सकती है, इसके साथ ही उन्होने महंगाई 10% के दर पर रहने का अनुमान भी लगाया है। Share Market News Today in Hindi

    इसके साथ ही US Federal ने उनके Policy Rate 50 bps से बढ़ा दिए है, जो की पिछले करीब 22 साल मे सबसे ज्यादा की बढ़ौतरी है। क्यूकी March तिमाही मे US के Economy करीब 1.4 प्रतिशत shrink हो चुकी थी।

    एसके अलावा भारत मे भी अचानक से RBI के द्वारा Repo Rate मे करीब 40 bps की बढ़ौतरी कर दी गई है।

     

    2) FPI की बिकवाली :

    लगातार पिछले 8 महीने से भारतीय बाज़ार मे FPI की बिकवाली चल रही है। इनकी बड़ी बिकवाली भी एक बड़ा कारण है, जिसकी वजह से भारतीय शेयर बाज़ार मे मंदी का माहौल छाया हुआ है। मार्च के महीने मे यह बिकवाली 41123 करोड़ रुपए की थी।

    US Market मे ब्याज मे बढ़ौतरी के कारण भी FPI की Selling चल रही है, क्यूकी ब्याज मे बढ़ौतरी के कारण Dollar की value बढ़ती जा रही है।  Share Market News Today in Hindi

     

    3) Oil Price का बढ़ना :

    आज के दिन यानी शुक्रवार के दिन भी Oil Price मे बड़ी तेज़ी देखने को मिल रही है। इस बढ़ी हुई Oil Price के कारण सभी चीज़ों के दाम भी बढ़ेंगे और वह भी कंपनियो की Sells पर असर करेगी। जिस से कंपनियो की Sell कम हो सकती है। इसके साथ ही बढ़े हुए ब्याज दर की वजह से नया कर्ज़ लेना महँगा पड़ जाएगा।  Share Market News Today in Hindi

    इसकी वजह से जो लोग पहले कर्ज़ लेकर गाड़ी या घर एसा कोई बड़ी चीज़ खरीदना चाहते होंगे वह लोगो की संख्या कम हो जाएगी। एसे मे इसका सीधा असर Automobile कंपनी पर और दूसरा सीधा असर Construction से जुड़े sector मे होगी।

    एसे मे इस से जुड़े काम काज करने वाली कंपनियो की आय भी कम होगी क्यूकी उनका माल भी कम बिकेगा। यह डर भी एक वजह से शेयर बाज़ार मे आ रही भारी मंदी का। Share Market News Today in Hindi

    तो दोस्तो यह थी Share Market News Today in Hindi. उम्मीद करता हु आपको यह जानकारी समज मे आ चुकी होगी। साथ ही बाज़ार मे छाई हुई मंदी का कारण पता लग गया होगा।

    अगर आप शेयर बाज़ार से जुड़ी एसी ही जानकारी की Update free मे चाहते है, तो नीचे दिए गए Blue Color के (Subscribe to Updates) के Button को Click करके जो स्क्रीन खुलेगी उसमे yes का विकल्प select कर दीजिए।

    By Gaurav

    Gaurav Popat एक निवेशक, ट्रेडर और ब्लॉगर है, जो की शेयर बाज़ार मे बहुत रुचि रखता है। वह साल 2015 से शेयर बाज़ार मे है। पिछले 7 साल मे खुद अलग अलग जगह से सीख कर और अनुभव के आधार पर शेयर बाज़ार और निवेश के विषय मे यहा पर जानकारी देता है।